Giloy Juice

Indication:

GILOY JUICE: Giloye (Tinospora Cordifolia) is an Ayurvedic herb used since ancient times. Also known as Amrita which literally translates to the root of immortality because of its various medicinal properties. Giloye’s stems have antibacterial properties and play a vital role in boosting immunity. Regular use of Giloye prevents the human body from viral infections especially which attack the human respiratory system.

Strongly recommended in the prevention of common cold, influenza, chronic fever, and throat ailments.

Ayurvedic literature also recommends Giloye Juice in various types of cancers.

  1. Immunity Booster and Detoxifying agent.
  2. Promotes nourishing and cleansing of the immune system.
  3. Strong Anti-bacterial Ayurvedic remedy for all types of flu and allergy.
  4. Enhances liver function.
  5. Recommended for Joint pains.

Giloy juice is helpful in protection against various endemic bacterial and viral infections.

Dose: 15 to 20 ml. twice a day after meals or as directed by the physician.

Available in: 500 ml.

 

गिलोय जूस

गिलोय (टीनोस्पोरा कोर्डिफ़ोलिया) एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका उपयोग प्राचीन काल से किया जाता है। अमृता के रूप में भी जाना जाता है जो शाब्दिक रूप से अपने विभिन्न औषधीय गुणों के कारण अमरता की जड़ में अनुवाद करता है। गिलोय के तनों में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं और यह प्रतिरक्षा को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। गिलोय का नियमित उपयोग मानव शरीर को विशेष रूप से वायरल संक्रमण से बचाता है जो मानव श्वसन प्रणाली पर हमला करते हैं। आम सर्दी, इन्फ्लूएंजा, पुरानी बुखार और गले की बीमारियों की रोकथाम में दृढ़ता से सिफारिश की जाती है। आयुर्वेदिक साहित्य विभिन्न प्रकार के कैंसर में गिलोय जूस की भी सिफारिश करता है। 1. इम्यूनिटी बूस्टर और डिटॉक्सिफाइंग एजेंट। 2. प्रतिरक्षा प्रणाली के पोषण और सफाई को बढ़ावा देता है। 3. सभी प्रकार के फ्लस और एलर्जी के लिए मजबूत एंटी-बैक्टीरियल आयुर्वेदिक उपाय। 4. जिगर समारोह को बढ़ाता है। 5. संयुक्त दर्द के लिए अनुशंसित।

गुणधर्म: गिलोय जूस वायरल और बैक्टीरियल इन्फैक्शन से बचाये व रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये।

मात्रा: 15 से 20 मिली. दिन में 2 बार भोजन के बाद अथवा चिकित्सक के परामर्शानुसार।

उपलब्ध: 500 मिली।

Category:

Indication:

GILOY JUICE: Giloye (Tinospora Cordifolia) is an Ayurvedic herb used since ancient times. Also known as Amrita which literally translates to the root of immortality because of its various medicinal properties. Giloye’s stems have antibacterial properties and play a vital role in boosting immunity. Regular use of Giloye prevents the human body from viral infections especially which attack the human respiratory system.

Strongly recommended in the prevention of common cold, influenza, chronic fever, and throat ailments.

Ayurvedic literature also recommends Giloye Juice in various types of cancers.

  1. Immunity Booster and Detoxifying agent.
  2. Promotes nourishing and cleansing of the immune system.
  3. Strong Anti-bacterial Ayurvedic remedy for all types of flu and allergy.
  4. Enhances liver function.
  5. Recommended for Joint pains.

Giloy juice is helpful in protection against various endemic bacterial and viral infections.

Dose: 15 to 20 ml. twice a day after meals or as directed by the physician.

Available in: 500 ml.

 

गिलोय जूस

गिलोय (टीनोस्पोरा कोर्डिफ़ोलिया) एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका उपयोग प्राचीन काल से किया जाता है। अमृता के रूप में भी जाना जाता है जो शाब्दिक रूप से अपने विभिन्न औषधीय गुणों के कारण अमरता की जड़ में अनुवाद करता है। गिलोय के तनों में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं और यह प्रतिरक्षा को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। गिलोय का नियमित उपयोग मानव शरीर को विशेष रूप से वायरल संक्रमण से बचाता है जो मानव श्वसन प्रणाली पर हमला करते हैं। आम सर्दी, इन्फ्लूएंजा, पुरानी बुखार और गले की बीमारियों की रोकथाम में दृढ़ता से सिफारिश की जाती है। आयुर्वेदिक साहित्य विभिन्न प्रकार के कैंसर में गिलोय जूस की भी सिफारिश करता है। 1. इम्यूनिटी बूस्टर और डिटॉक्सिफाइंग एजेंट। 2. प्रतिरक्षा प्रणाली के पोषण और सफाई को बढ़ावा देता है। 3. सभी प्रकार के फ्लस और एलर्जी के लिए मजबूत एंटी-बैक्टीरियल आयुर्वेदिक उपाय। 4. जिगर समारोह को बढ़ाता है। 5. संयुक्त दर्द के लिए अनुशंसित।

गुणधर्म: गिलोय जूस वायरल और बैक्टीरियल इन्फैक्शन से बचाये व रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये।

मात्रा: 15 से 20 मिली. दिन में 2 बार भोजन के बाद अथवा चिकित्सक के परामर्शानुसार।

उपलब्ध: 500 मिली।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Giloy Juice”

Your email address will not be published. Required fields are marked *