Mahavatvidhwansan Ras

Indication: It is a well-known medicine for all types of rheumatism, arthritis, paralysis, etc.

Dose: 1 to 2 tabs with honey or Ghee 2 to 3 times or as directed by the physician.

Available in: 40 and 80 Tabs.

 

महावातविध्वंसन रस

गुणधर्म: यह सब प्रकर के वात रोग, गठिया, आमवात, पक्षाघात (लकवा) अपस्मार आदि की प्रसिद्ध औषधि है।

मात्रा: वयस्क- 1 से 2 टैबलेट मधु या घी या गर्म जल के साथ दिन में 2 या 3 बार वात विकारों में अदरख रस व मधु के साथ चांटकर महारास्नादि काढ़ा 24 मिली. पीना चाहिये।

Category:

Indication: It is a well-known medicine for all types of rheumatism, arthritis, paralysis, etc.

Dose: 1 to 2 tabs with honey or Ghee 2 to 3 times or as directed by the physician.

Available in: 40 and 80 Tabs.

 

महावातविध्वंसन रस

गुणधर्म: यह सब प्रकर के वात रोग, गठिया, आमवात, पक्षाघात (लकवा) अपस्मार आदि की प्रसिद्ध औषधि है।

मात्रा: वयस्क- 1 से 2 टैबलेट मधु या घी या गर्म जल के साथ दिन में 2 या 3 बार वात विकारों में अदरख रस व मधु के साथ चांटकर महारास्नादि काढ़ा 24 मिली. पीना चाहिये।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Mahavatvidhwansan Ras”

Your email address will not be published. Required fields are marked *