Vyadhiharan Rasayan

Indication:

Useful in Itching, boils and skin diseases.

Dose: 1-2 Ratti twice a day with Madhurica, Ghee or Nagar Paan ras or as directed by the physician.

Available in:  1 gm. and 2.5 gm.

 

व्याधिहरण रसायन

गुणधर्म: यह खाज-खुजली, फोड़ा-फुंसी, भगन्दर कुष्ठ तथा चर्म रोगों में विषेष गुणकारी है।

मात्रा:  1 से 2 रत्ती तक दिन में 2 बार मधुरिका या घृत अथवा नागर पान रस या चिकित्सक के परामर्षानुसार।

Category:

Indication:

Useful in Itching, boils and skin diseases.

Dose: 1-2 Ratti twice a day with Madhurica, Ghee or Nagar Paan ras or as directed by the physician.

Available in:  1 gm. and 2.5 gm.

 

व्याधिहरण रसायन

गुणधर्म: यह खाज-खुजली, फोड़ा-फुंसी, भगन्दर कुष्ठ तथा चर्म रोगों में विषेष गुणकारी है।

मात्रा:  1 से 2 रत्ती तक दिन में 2 बार मधुरिका या घृत अथवा नागर पान रस या चिकित्सक के परामर्षानुसार।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Vyadhiharan Rasayan”

Your email address will not be published. Required fields are marked *