Shilajitwadi Bati

Indication:

Trivang Bhasma, Nimbapatra, Gudmar, Shilajit, etc. Prameha and Diabetic are the basic components of this bati. It provides good benefits in all types of diseases and diabetes due to good chemical compositions. It’s a cheap and useful medicine for the general public.

Dose: Take 1 to 2 tablets in an ordinary state and in the particular condition of the disease, take 3-3 tablets after 4-5 hours. Total 12 tablets to be consumed in a day.

Available in: 20 & 40 Tab

 

शिलाजित्वादि बटी

गुणधर्म: त्रिवंग भस्म, निम्बपात्र, गुड़मार, शिलाजीत आदि प्रमेह और मधुमेह नाशक गुणकारी मूल उपादानों द्वारा इस बटी का निर्माण होता है। यह सब प्रकार के प्रमेहों तथा मधुमेह की सभी अवस्थाओं में उत्तम लाभ करती है। रसायनिक योग के रूप में लाभ पहुंचाता है। जनसाधारण के लिए यह सस्ती एवं उपयोगी दवा है।

मात्रा: साधारण अवस्था में 1 से 2 टेब. तक सुबह-शाम तथा रोग की विशेषावस्था में 4-5 घण्टे के बाद 3-3 टेब.  दिन रात में 12 टेब. तक।

Category:

Indication:

Trivang Bhasma, Nimbapatra, Gudmar, Shilajit, etc. Prameha and Diabetic are the basic components of this bati. It provides good benefits in all types of diseases and diabetes due to good chemical compositions. It’s a cheap and useful medicine for the general public.

Dose: Take 1 to 2 tablets in an ordinary state and in the particular condition of the disease, take 3-3 tablets after 4-5 hours. Total 12 tablets to be consumed in a day.

Available in: 20 & 40 Tab

 

शिलाजित्वादि बटी

गुणधर्म: त्रिवंग भस्म, निम्बपात्र, गुड़मार, शिलाजीत आदि प्रमेह और मधुमेह नाशक गुणकारी मूल उपादानों द्वारा इस बटी का निर्माण होता है। यह सब प्रकार के प्रमेहों तथा मधुमेह की सभी अवस्थाओं में उत्तम लाभ करती है। रसायनिक योग के रूप में लाभ पहुंचाता है। जनसाधारण के लिए यह सस्ती एवं उपयोगी दवा है।

मात्रा: साधारण अवस्था में 1 से 2 टेब. तक सुबह-शाम तथा रोग की विशेषावस्था में 4-5 घण्टे के बाद 3-3 टेब.  दिन रात में 12 टेब. तक।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Shilajitwadi Bati”

Your email address will not be published. Required fields are marked *