Suwarna Amrit Rasayanam

Indication:

Ayurveda is the result of thousands of years of research and experience of our sages. Ayurveda is not only limited to medical treatment, it also provides complete knowledge of life values, health and life. According to Ayurveda, the basic three elements in the body are Vata, pitta and Kapha (tridhatu). If there is balance in them, then no disease can come to humans. When their balance deteriorates, only then does a disease control the body. Although diseases are treated by many medical systems throughout the world, Ayurveda is the most reliable and popular medical system. Being completely connected to nature, Ayurveda is the only medical system in the world that focuses on the cause of the disease. That is why due to the treatment of Ayurveda, the disease does not regenerate and a person becomes completely disease-free and enjoys the joy of life.

Therefore, it is our duty that we all become wet in the creation of a healthy, happy and prosperous nation through Ayurveda.

  1. Powerful Immunity Booster.
  2. No Side Effects. (Manufactured with traditionally adopted Ayurvedic Process)
  3. Enriched with herbs and minerals which promote Calcium and Vitamin C
  4. Enriched with GOLD (Swarna Bhasm) Nourishes the body
  5. Works as a strong Anti-aging tonic.
  6. Nourishes mucous membranes
  7. Assures Long Term Relief and No Side effects

Uses: 1 to 2 teaspoonful twice daily with milk after a principal meal or as directed by the physician.

Available in: 500 gm.

 

स्वर्ण अमृत रसायनम्

गुणधर्म:

आयुर्वेद हमारे ऋषि मुनियों की हजारों वर्षों की अनुसंधान और अनुभव का परिणाम है। आयुर्वेद न केवल रोंगों की चिकित्सा तक सीमित है अपतिु यह जीवनमूल्यों, स्वास्थ्य एवं जीवन जीने का सम्पूर्ण ज्ञान प्रदान करता है। आयुर्वेद के अनुसार शरीर में मूल तीन तत्व वात, पित्त और कफ (त्रिधातु) है। अगर इनमें संतुलन बना रहे तो कोई बीमारी मनुष्य तक नही आ सकती। जब इनका संतुलन बिगड़ता है, तब ही कोई बीमारी शरीर को अपने वश में कर लेती है। वैसे तो दुनिया भर में अनेकांे चिकित्सा पद्यतियों द्वारा रोगों का इलाज किया जाता है किन्तु आयुर्वेद सबसे विश्वसनीय और प्रचलित चिकित्सा पद्यति है। पूर्ण रूप से प्रकृति से जुड़ा होने के कारण आयुर्वेद ही दुनिया की एकमात्र ऐसी चिकित्सा पद्यति है जो रोग के मूल के कारण पर केन्द्रित है। इसी कारण आयुर्वेद के उपचार से रोग की पुनः उत्पत्ती नही हो पाती और मनुष्य पूर्णतः रोगमुक्त होकर जीवन के आनन्द को प्राप्त करता है।

अतः यह हमारा कर्तव्य है कि हम सभी मिलकर आयुर्वेद के माध्यम से स्वस्थ, सुखी और समृद्ध राष्ट्र के निर्माण में भीगीदार बने।

  1. शक्तिशाली प्रतिरक्षा बूस्टर।
  2. कोई साइड इफेक्ट नहीं। (परंपरागत रूप से अपनाई गई आयुर्वेदिक प्रक्रिया से निर्मित)
  3. जड़ी बूटियों और खनिजों से समृद्ध जो कैल्शियम और विटामिन सी को बढ़ावा देते हैं
  4. स्वर्ण (स्वर्ण भस्म) से समृद्ध शरीर को पोषण देता है
  5. एक मजबूत एंटी एजिंग टॉनिक के रूप में काम करता है।
  6. श्लेष्मा झिल्ली को पोषण देता है
  7. लॉन्ग टर्म रिलीफ और नो साइड इफेक्ट का आश्वासन

प्रयोग विधि: 1 से 2 चम्मच दिन में दो बार दूध के साथ खाना खाने के बाद अथवा चिकित्सक के परामर्शानुसार लें।

उपलब्ध: 500 ग्राम।

Indication:

Ayurveda is the result of thousands of years of research and experience of our sages. Ayurveda is not only limited to medical treatment, it also provides complete knowledge of life values, health and life. According to Ayurveda, the basic three elements in the body are Vata, pitta and Kapha (tridhatu). If there is balance in them, then no disease can come to humans. When their balance deteriorates, only then does a disease control the body. Although diseases are treated by many medical systems throughout the world, Ayurveda is the most reliable and popular medical system. Being completely connected to nature, Ayurveda is the only medical system in the world that focuses on the cause of the disease. That is why due to the treatment of Ayurveda, the disease does not regenerate and a person becomes completely disease-free and enjoys the joy of life.

Therefore, it is our duty that we all become wet in the creation of a healthy, happy and prosperous nation through Ayurveda.

  1. Powerful Immunity Booster.
  2. No Side Effects. (Manufactured with traditionally adopted Ayurvedic Process)
  3. Enriched with herbs and minerals which promote Calcium and Vitamin C
  4. Enriched with GOLD (Swarna Bhasm) Nourishes the body
  5. Works as a strong Anti-aging tonic.
  6. Nourishes mucous membranes
  7. Assures Long Term Relief and No Side effects

Uses: 1 to 2 teaspoonful twice daily with milk after a principal meal or as directed by the physician.

Available in: 500 gm.

 

स्वर्ण अमृत रसायनम्

गुणधर्म:

आयुर्वेद हमारे ऋषि मुनियों की हजारों वर्षों की अनुसंधान और अनुभव का परिणाम है। आयुर्वेद न केवल रोंगों की चिकित्सा तक सीमित है अपतिु यह जीवनमूल्यों, स्वास्थ्य एवं जीवन जीने का सम्पूर्ण ज्ञान प्रदान करता है। आयुर्वेद के अनुसार शरीर में मूल तीन तत्व वात, पित्त और कफ (त्रिधातु) है। अगर इनमें संतुलन बना रहे तो कोई बीमारी मनुष्य तक नही आ सकती। जब इनका संतुलन बिगड़ता है, तब ही कोई बीमारी शरीर को अपने वश में कर लेती है। वैसे तो दुनिया भर में अनेकांे चिकित्सा पद्यतियों द्वारा रोगों का इलाज किया जाता है किन्तु आयुर्वेद सबसे विश्वसनीय और प्रचलित चिकित्सा पद्यति है। पूर्ण रूप से प्रकृति से जुड़ा होने के कारण आयुर्वेद ही दुनिया की एकमात्र ऐसी चिकित्सा पद्यति है जो रोग के मूल के कारण पर केन्द्रित है। इसी कारण आयुर्वेद के उपचार से रोग की पुनः उत्पत्ती नही हो पाती और मनुष्य पूर्णतः रोगमुक्त होकर जीवन के आनन्द को प्राप्त करता है।

अतः यह हमारा कर्तव्य है कि हम सभी मिलकर आयुर्वेद के माध्यम से स्वस्थ, सुखी और समृद्ध राष्ट्र के निर्माण में भीगीदार बने।

  1. शक्तिशाली प्रतिरक्षा बूस्टर।
  2. कोई साइड इफेक्ट नहीं। (परंपरागत रूप से अपनाई गई आयुर्वेदिक प्रक्रिया से निर्मित)
  3. जड़ी बूटियों और खनिजों से समृद्ध जो कैल्शियम और विटामिन सी को बढ़ावा देते हैं
  4. स्वर्ण (स्वर्ण भस्म) से समृद्ध शरीर को पोषण देता है
  5. एक मजबूत एंटी एजिंग टॉनिक के रूप में काम करता है।
  6. श्लेष्मा झिल्ली को पोषण देता है
  7. लॉन्ग टर्म रिलीफ और नो साइड इफेक्ट का आश्वासन

प्रयोग विधि: 1 से 2 चम्मच दिन में दो बार दूध के साथ खाना खाने के बाद अथवा चिकित्सक के परामर्शानुसार लें।

उपलब्ध: 500 ग्राम।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Suwarna Amrit Rasayanam”

Your email address will not be published. Required fields are marked *