Swarna Bhasma

Indication:

Useful in Decay, metallicity, chronic fever, Tridosh, Cold, burning and beneficial in memory.

Dose: As directed by the Physician.

Available in:  125 mg. & 500 mg.

स्वर्ण भस्म

गुणधर्म: जिस प्रकार स्वर्ण को सामाजिक जीवन में स्थान प्राप्त है। ठीक उसी प्रकार षारीरिक व्याधि दूर करने में भी यह बहुत महत्व रखता है, अत्यन्त क्षीणावस्था में अदभुद षक्ति प्रदान करता है, इसकी भस्म स्निग्ध, षीतवीर्य और रसायन गुण वाली है, यह प्रज्ञा, वीर्य, स्मृति, कान्ति व ओज बढ़ाने वाली है। यह क्षय (राजक्ष्मा) धातु क्षीणता, जीर्ण ज्वर, मन्द ज्वर,त्रिदोष, मस्तिष्क की दुर्बलता, पुरानी ष्वास कास, दाह, पित्तरोग, पित्तज, उन्माद, विषविकार, पित्त प्रमेह, दृष्टि क्षीणता एवं नपुंसकता आदि में उपयोगी है।

मात्रा: चिकित्सक के परामर्षानुसार लें।

Category:

Indication:

Useful in Decay, metallicity, chronic fever, Tridosh, Cold, burning and beneficial in memory.

Dose: As directed by the Physician.

Available in:  125 mg. & 500 mg.

स्वर्ण भस्म

गुणधर्म: जिस प्रकार स्वर्ण को सामाजिक जीवन में स्थान प्राप्त है। ठीक उसी प्रकार षारीरिक व्याधि दूर करने में भी यह बहुत महत्व रखता है, अत्यन्त क्षीणावस्था में अदभुद षक्ति प्रदान करता है, इसकी भस्म स्निग्ध, षीतवीर्य और रसायन गुण वाली है, यह प्रज्ञा, वीर्य, स्मृति, कान्ति व ओज बढ़ाने वाली है। यह क्षय (राजक्ष्मा) धातु क्षीणता, जीर्ण ज्वर, मन्द ज्वर,त्रिदोष, मस्तिष्क की दुर्बलता, पुरानी ष्वास कास, दाह, पित्तरोग, पित्तज, उन्माद, विषविकार, पित्त प्रमेह, दृष्टि क्षीणता एवं नपुंसकता आदि में उपयोगी है।

मात्रा: चिकित्सक के परामर्षानुसार लें।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Swarna Bhasma”

Your email address will not be published. Required fields are marked *