Trailokya Chintamani Ras (Swarna Yukt)

Indication: Useful in all types of joint pain, Pandu, Duodenum and physical fitness.

Dose: 1-1 Tablet twice a day or as directed by the Physician.

Available in: 5, 10 & 25 Tabs.

 

त्रिलोक्य चिन्तामणि रस  (स्व.यु.)

गुणधर्म: इस रसायन के सेवन से कठिन से कठिन वातरोग-कमर दर्द, स्नायु दौर्बल्य, बुढ़ापे की कमजोरी, हृदयशूल, सभी अंगो में झनझनाहट होना, गठिया, पागलपन, लकवा, विद्रधि आदि विकारों को नष्ट कर सप्त धातुओं के पोषक का कार्य करता है। (इसका अधिक दिन तक सेवन करने से शरीर हष्टपुष्ट तथा कान्ति युक्त हो जाता है)।

मात्रा: 1-1 टेबलेट दिन में दो बार या चिकित्सक के परामर्शानुसार।

Category:

Indication: Useful in all types of joint pain, Pandu, Duodenum and physical fitness.

Dose: 1-1 Tablet twice a day or as directed by the Physician.

Available in: 5, 10 & 25 Tabs.

 

त्रिलोक्य चिन्तामणि रस  (स्व.यु.)

गुणधर्म: इस रसायन के सेवन से कठिन से कठिन वातरोग-कमर दर्द, स्नायु दौर्बल्य, बुढ़ापे की कमजोरी, हृदयशूल, सभी अंगो में झनझनाहट होना, गठिया, पागलपन, लकवा, विद्रधि आदि विकारों को नष्ट कर सप्त धातुओं के पोषक का कार्य करता है। (इसका अधिक दिन तक सेवन करने से शरीर हष्टपुष्ट तथा कान्ति युक्त हो जाता है)।

मात्रा: 1-1 टेबलेट दिन में दो बार या चिकित्सक के परामर्शानुसार।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Trailokya Chintamani Ras (Swarna Yukt)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *